Homeक्राइमफूफा ने 13 साल के मासूम (13 year old innocent) को पीट-पीटकर...

फूफा ने 13 साल के मासूम (13 year old innocent) को पीट-पीटकर मार डाला

फूफा ने 13 साल के मासूम (13 year old innocent) को पीट-पीटकर मार डाला

मोबाइल पर गेम खेलने की कर रहा था जिद, शव पर घी का लेप लगाते समय पिता को दिखे जख्म राजस्थान में बूंदी जिले में 13 साल के बच्चे ने मोबाइल पर गेम खेलने की जिद की तो इससे नाराज फूफा ने उसे इतना पीटा कि उसकी मौत हो गई।अंतिम संस्कार के दौरान पिता को बच्चे के शव पर चोट के निशान नजर आए तो पूरे मामले का खुलासा हुआ। पुलिस ने हत्या का मामला दर्ज जांच शुरू कर दी है।

दुर्गालाल निवासी छाला खेड़ा, जहाजपुर (भीलवाड़ा) ने बताया- 13 साल के मासूम (13 year old innocent) मेरा बेटा विकास (13) मेरी बड़ी बहन जनता (41) के यहां रहता था। मेरी बहन पपराला थाना हिंडोली (बूंदी) के पास रहती है। मंगलवार दोपहर मेरे जीजा रमेश (45) का फोन आया। उन्होंने बताया कि विकास की तबीयत अचानक बिगड़ गई। उसको उल्टी हुई, जिसके बाद उसकी मौत हो गई है। हम उसे गांव लेकर आ रहे हैं। तुम अंतिम संस्कार की तैयारी करो।

पूरे शरीर पर थे चोटों के निशान

दुर्गालाल ने बताया कि जब जीजा विकास के शव को गांव लेकर आए तब तक शाम हो चुकी थी। विकास के शव को देखते ही परिवार में कोहराम मच गया। शाम होने के कारण परिवार के लोग जल्द से जल्द अंतिम संस्कार करने की तैयारी में जुट गए।
बच्चे के शव को लेकर श्मशान घाट पहुंचे, जहां अंतिम संस्कार की क्रिया शुरू हुई। इस दौरान बच्चे के शरीर पर घी लगाने लगे तो विकास के हाथ-पैरों पर चोट के निशान नजर आए। चोट देखने पर शक हुआ कि विकास के साथ कुछ अनहोनी हुई है। इस पर उसने कपड़े फाड़कर देखा तो पूरे शरीर पर गंभीर चोटों के निशान थे।

हत्या का मामला दर्ज, आरोपी फूफा फरार

हिंडोली थाना के एसआई सूरजमल ने बताया कि बच्चे के परिवार वालों ने जहाजपुर पुलिस को सूचना दी। पुलिस ने शव को कब्जे में ले लिया है। थाने से टीम जहाजपुर पहुंची और शव को बूंदी लाकर मेडिकल बोर्ड से पोस्टमॉर्टम कराया।
पिता दुर्गालाल का कहना है कि उसके बेटे को मार-मार कर मौत के घाट उतारा गया है। लिहाजा हत्या का मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी गई है। आरोपी फूफा अभी फरार है। जल्द ही उसको गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

मोबाइल पर गेम खेलने की जिद करने पर पीटा
जानकारी के अनुसार, विकास जब 5 साल का था, तभी से वो अपनी बुआ के पास रहकर पढ़ाई कर रहा था। अभी वह 7वीं क्लास में था। 2 बहनों का छोटा भाई विकास बुआ का इतना लाडला था कि वह गर्मी की छुट्टियों में भी अपने गांव नहीं आया था। विकास की बुआ के 2 बच्चे हैं, जो उससे बड़े हैं।

परिवार के लोगों का कहना है कि मंगलवार दोपहर को विकास ने अपने फूफा रमेश से मोबाइल मांगा तो उसने मोबाइल देने से इनकार कर दिया। विकास कुछ देर मोबाइल पर गेम खेलने की जिद करने लगा। इस पर फूफा नाराज हो गया और उसने विकास की बुरी तरह पिटाई कर दी, जिससे उसकी मौत हो गई।

मारपीट के बाद फूफा ने शव को नहलाकर नए कपड़े पहनाए, ताकि चोटों के निशान किसी को नजर नहीं आएं। फूफा शव को लेकर शाम को गांव आए ताकि अंतिम संस्कार की जल्दबाजी में किसी का चोटों की तरफ ध्यान नहीं जाए।

ये भी पढ़े – पीएम किसान (PM Kisan) सम्मान निधि किसानों को मिलेंगे दस हजार रुपए सालाना

इससे जुड़ी ख़बरें
- Advertisment -

Most Popular